Pani peene ka sahi tarika, यह ५ गलतिया ना करे | Dr. Kumar Health Expert

Common mistakes while drinking water in Hindi – पानी पिने का ५ साधारण गलतिया हम अपने दैनिक जीवन में करते रहते है, जो बाद में fatty liver को develop करने में सहायक होती है। क्या है Paani peene ka tarika ? आज ही अपने Pani peene ka tarika सुधार करे ।

Pani peene ka 5 galatiya | Pani peene ka tarika जाने

Pani peene ka sahi tarika

ठंडा पानी पीना | drinking cold water

ठंडा पानी पिने से केवल गले को आराम मिलता है और उसके आगे कुछ नहीं होता है। इसका वजह यह होता है , हम जोभी खाते पीते है पहले हमारे आमाशय में जाता है। आमाशय हमारे खाने पिने को ३७ डिग्री में गरम करदेता है। उसके बाद ही सारे चीजे आगे बढाती है।

हम गुना पानी पीते है तोह हमारे शरीर को कम काम करना पड़ता है। अगर हम ठंडा पानी पीते है तो आमाशय में पहुंचते पहुंचते सही मात्रा में गरम हो जाता है। क्यों की आमाशय में पहिले से ही पाचन रस होता है और फिर निचे की तरफ बढ़ना सुरु हो जाता है।

अगर फ्रिज का बहुत ज्यादा १ या डेढ़ गिलास ठंडा पानी पीते है तो आप का शरीर सिग्नल देता है की आप का गले में दर्द होना सुरु होगा।

अगर दर्द होना सुरु हो रहा है इसका मतलब शरीर कह रहा है की रुक रुक के पियो या फिर मत पियो । अगर आप बिना रुके और ठंडा पानी पी रहेहै तोह आप अपनी आमाशय को ठंडा कर रहे है।

आमाशय ठंडा होने से आपको खाना पचाने की ज्यादा energy की जरूर होगी। जब ज्यादा एनर्जी लगेगी तो आप को ज्यादा थकान लगेगी। एनर्जी ज्यादा लगने से आप का लिवर को एनर्जी कम मिलेगी और liver उतना बेहतर काम नहीं कर पायेगा।

ठंडा पानी १ गिलास से ज्यादा एक झटके में पीना गलत है, ऐसा मत पियो। आप के गले में गुटकने से दर्द रहा है इसका मतलब आप ठन्डे पानी मत पियो। आज ही अपने Pani peene ka tarika सुधार करे ।

खाना खाते समाये पानी पीना | Drinking water while eating

अगर आप का उम्र ४० का ऊपर है तो आप खाना खाते समय पानी नहीं पीना है। आप खाना खाने से आदि घंटे पहले या खाना खाने के १५ मिनट के बाद पानी पि सकते है। बिच में भी पि सकते है लेकिन कुछ सिप ही पि सकते है।

अगर आप का उम्र ४० से निचे है आप कुछ भी करे सब चलता है।

कौनसा पानी पिने चाहिए – नलका के पानी, आरो का पानी, बोतल का पानी या हैंड पंप का पानी

hame konsa pani pina chahiye

पानी वही पिए जिसमे मिनरल हो जिसकी आप की शरीर की जरूत है। सबसे सस्ते मिनरल पानी का स्रोत ये है जो जमीं से गहिराई वाला Handpump से निकला हुवा पानी आप सीधे पि सकते है।

पानी के अंदर mineral होता है हमें उसके जरुरत होता है। सस्ते आरो जो मिनरल होता है उसे ख़तम कर देता है। इसके पानी में सिर्फ हाइड्रोजन + ऑक्सीजन का पानी होता है। ऐसा सस्ते वाले आरो की बिना मिनिरल का पानी पिने से शरीर का मिनरल का जो मात्रा है उनको कम करना सुरु करदेता है।

मिनरल का मात्रा कम होने के वजह से हमारा Liver विटामिन का उपत्पादन काम करता है और लिवर कंजस्टेड होना सूरा होता है जो बाद में fatty liver के तरफ चलता है।

नलके का पानी आप बिलकुल ही मत पिए क्यों की यह केमिकल से ही छाना जाता है।

बोतल का पानी mineral water खरीदने से पहले देख ले की कौन कौन मिनरल पड़े है। सस्ते और महंगे मिनरल वाटर में एहि फरक होता है। महंगे मिनरल वाटर में जो मुख्या मिनरल होते है बो रहते है लेकिन सस्ते मिनरल वाटर सायद आरो water filter से छानकर सीधे भर दिया जाता है।

बहुत ज्यादा पानी पीना | Bahut jyada pani pina

ज्यादा कोई भी चीज सही नहीं होता है। अगर आप दिन भर में ८ गिलास से ज्यादा पानी पि रहे है तो आप के शरीर में पानी के मात्रा ज्यादा हो रही है।

पानी ज्यादा पिने से किडनी को छन्ना तो आसान होता है लेकिन बहुत ज्यादा छन्ना पड़रहा है।

पानी कम पीना | Pani kam pina

कम पानी पिने से किडनी को छान्ने में ज्यादा जोर लगता है। कम पानी में ठीक से छान नहीं सकता है जो बाद में किडनी स्टोन समस्या होता है।

ज्यादा पानी पिनेसे भी किडनी को ज्यादा काम करना पड़ता है। कम पानी पिने से भी किडनी को ज्यादा काम करना पड़ता है। इसीलिए दिन भर में ७ गिलास पानी पि सकते है। आज ही अपने Pani peene ka tarika सुधार करे ।

Reference: Dr. Kumar

Leave a Comment